अक्कल

तप साधन सुखें करना । दो मिलके गीत गाना । बहुत मिलके विद्या शिकना । भावबंदमें बरकस रहेना ॥ १ ॥

दुष्मान देखके तवाई धरना । खुदा मिलके बाट खाना । पांच मिलकर इन्साफ करना । इन्साफकी तो बात बोलना ॥ २ ॥

उस तलेके न्याय करना । गाफल होकर गम खाना । घोडेपर बैठकर उगे जाना । पावमें जोडा तगार रखना ॥ ३ ॥

परावे बेटीपर नजर नहीं रखना । बीरकी कमान न खेचना । एका जनार्दनीं अक्कल वाहाना । सद्‍गुरु के चरन पकरना ॥ ४ ॥

comments powered by Disqus