मीराबाई के भजन
मीराबाई Updated: 15 April 2021 07:30 IST

मीराबाई के भजन : सहेलियां साजन घर आया हो

मीराबाई के भजन

स्याम मने चाकर राखो जी गिरधारी लाला चाकर राखो जी   हे मेरो मनमोहना आयो नहीं सखी री

सहेलियां साजन घर आया हो।
बहोत दिनां की जोवती बिरहिण पिव पाया हो॥

रतन करूं नेवछावरी ले आरति साजूं हो।
पिवका दिया सनेसड़ा ताहि बहोत निवाजूं हो॥

पांच सखी इकठी भ मिलि मंगल गावै हो।

पिया का रली बधावणा आणंद अंग न मावै हो।

हरि सागर सूं नेहरो नैणां बंध्या सनेह हो।
मरा सखी के आगणै दूधां बूठा मेह हो॥
. . .