भजन
संकलित Updated: 15 April 2021 07:30 IST

भजन : श्री गणेश वंदना

भजन

तुम उठो सिया सिंगार करो   गणपति गणेश

सबसे पहल्या थाने मनावा , लम्बोदर महाराज

पधारो कीर्तन में ||

रणत भवन से आयो थे, रिद्धि सिद्धि संग में लाओ ,

भजन में रम जावो थे, सारा काम बनाओ थे ,

विघ्न निवारण आप गजानंद , देवों का सरताज ,

पधारो कीर्तन में ||


दुंद दुन्दाला दुःख हरता थे , थारी महिमा भारी,

मंगल के दाता प्रभुजी, नाम थारो शुभकारी है,

रुनक झुनक थे आवो विनायक , आन संभालो आज,

पधारो कीर्तन में ||


भक्ता बीच पधारो थे, थारा लाड लडावागा,

आदर सहित बिठावागा, चरना धौक लगावागा,

शुभ और लाभ की देने वाले, अरज करो मंजूर,

पधारो कीर्तन में ||

आश भगत ने थारी है .... थारी ...............

. . .