भजन
संकलित Updated: 15 April 2021 07:30 IST

भजन : भगवान मेरी नैया

भजन

जब से लगन लगी प्रभु तेरी   शरण में आये हैं

भगवान मेरी नैया
भगवान मेरी नैया उस पार लगा देना .
अब तक तो निभाया है आगे भी निभा देना ..
सम्भव है झंझटों में मैं तुम को भूल जाऊँ .
पर नाथ कहीं तुम भी मुझको न भुला देना ..
तुम देव मैं पुजारी तुम ईश मैं उपासक .
यह बात सच है तो फिर सच कर के दिखा देना ..

. . .